LPG Full Form in Hindi | एलपीजी (LPG) का फुल फॉर्म क्या है

नमस्कार दोस्तों, आज के इस पोस्ट में हम एलपीजी फुल फॉर्म हिंदी में या एलपीजी फुल फॉर्म और इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं।

क्या आपके घर में गैस कनेक्शन है ? अगर हां तो गैस सिलेंडर भी होगा और आपको शायद पता होगा कि हमारे घरों में इस्तेमाल होने वाले गैस सिलेंडर में एलपीजी गैस का इस्तेमाल होता है।

इसके साथ ही एलपीजी गैस का उपयोग परिवहन वाहनों में ईंधन के रूप में भी किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि एलपीजी गैस का पूरा नाम क्या है?

शायद आप में से कुछ लोग इस बात से वाकिफ होंगे लेकिन जो नहीं जानते वो भी इस पोस्ट के माध्यम से जानने वाले हैं साथ ही इस पोस्ट में हम एलपीजी गैस के विभिन्न उपयोग और इसके फायदे और नुकसान के बारे में चर्चा करने वाले हैं। चूंकि आप जानने वाले हैं तो कृपया पोस्ट को शुरू से अंत तक ध्यान से पढ़ें।

Table of Contents

LPG Gas क्या है? (What is LPG in Hindi)

LPG Full Form in Hindi

एलपीजी एक रंगहीन, गंधहीन और हवा से भरी गैस है जिसमें मुख्य रूप से प्रोपेन और ब्यूटेन गैस पाई जाती है और इसे हिंदी में तरलीकृत पेट्रोलियम गैस कहा जाता है।

अगर आप सोच रहे हैं कि अगर ये गैस गंधहीन गैस है तो हमारे गैस सिलेंडर में गैस लीक होने के दौरान इसकी गंध क्यों आती है? तो यह गंध एथिल मर्कैप्टन के कारण होती है।

एलपीजी गैस के रिसाव का पता लगाने के लिए इसमें तेज गंध वाला एथिल मर्कैप्टन नामक यौगिक मिलाया जाता है और इस कारण से हमें पता चल जाता है कि एलपीजी कहां से लीक हो रही है।

एलपीजी का 95 प्रतिशत प्रोपेन और ब्यूटेन से बना है, जबकि 5 प्रतिशत अन्य गैसों प्रोपीलीन, ब्यूटिलीन, इथेन एथिलीन आइसोब्यूटेन आदि का मिश्रण है।

LPG का फुल फॉर्म क्या होता है

Short FormLPG Full FormLPG Meaning in Hindi
LLiquifiedतरलीकृत
PPetroleumपेट्रोलियम
GGasगैस

इस प्रकार उपरोक्त सारणी के माध्यम से आपको एलपीजी के फुल फॉर्म और इसके हिंदी मीनिंग के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी मिल गयी होगी तो चलिए अब इसके बारे में थोड़ा बहुत विस्तार से जानते है।

LPG Full Form in Hindi

जैसा कि हमने ऊपर देखा LPG का फुल फॉर्म “Liquified Petroleum Gas” होता है जिसे हिंदी में “Liquified Petroleum Gas” कहते हैं। यह गैस मुख्य रूप से ईंधन के रूप में प्रयोग की जाती है।

वैसे तो एलपीजी गैस भारत में कई सरकारी और निजी कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराई जाती है, लेकिन एलपीजी गैस मुख्य रूप से भारत में तीन निजी कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराई जाती है, जो इस प्रकार हैं –

  1. भारत गैस कंपनी
  2. इण्डेन गैस कंपनी
  3. हिदुस्तान पेट्रोलियम गैस कंपनी

इस प्रकार अब आप अच्छी तरह से जान गए होंगे कि LPG क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है तो चलिए अब इसके मुख्य उपयोग के बारे में जानते हैं।

एलपीजी का उपयोग क्या है

वैसे तो एलपीजी गैस का इस्तेमाल कई जगहों पर किया जाता है, लेकिन हम इसके कुछ प्रमुख उपयोगों के बारे में जानने जा रहे हैं, जो इस प्रकार हैं।

  1. हमारे घरों में खाना पकाने के लिए एलपीजी का उपयोग किया जाता है।
  2. इसके अलावा कुछ वाहनों में एलपीजी का उपयोग ईंधन के रूप में भी किया जाता है।
  3. एलपीजी गैस का उपयोग कई उद्योगों में भी किया जाता है।
  4. एलपीजी का उपयोग कई जगहों पर बिजली पैदा करने के लिए भी किया जाता है।
  5. एलपीजी का उपयोग पानी गर्म करने या हीटिंग सिस्टम में भी किया जाता है।

इस प्रकार एलपीजी का उपयोग कई अलग-अलग उद्देश्यों के लिए किया जाता है और हम इसे एक आदर्श ईंधन के रूप में देख सकते हैं क्योंकि यह जलने के दौरान कोई धुआं नहीं छोड़ता है और पूरी तरह जलता है और कोई अवशेष नहीं छोड़ता है। आइए अब इसके कुछ फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं।

एलपीजी से होने वाले फायदे

एलपीजी का इस्तेमाल हम करते हैं, लेकिन इसके इस्तेमाल से क्या फायदा होता है, आइए इसके बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

  1. एलपीजी वायु प्रदूषण को रोकता है क्योंकि यह जलने के दौरान धुआं नहीं छोड़ता है।
  2. यहां एक आदर्श ईंधन है जिसका उपयोग लगभग सभी घरों की रसोई में खाना पकाने के लिए किया जाता है।
  3. क्योंकि यह वायु को प्रदूषित नहीं करता इसलिए इसके प्रयोग से ओजोन परत को कोई नुकसान नहीं होता है।
  4. एलपीजी का उपयोग करते समय आपको कोई नुकसान नहीं होता है क्योंकि यह जलने के दौरान किसी भी जहरीली गैस में परिवर्तित नहीं होता है।
  5. इसे आप सिलिंडर में भरकर आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकते हैं.
  6. एलपीजी गैस का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इस गैस के जलने से आपको किसी तरह का नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा। क्योंकि यह गैस जलने के बाद जहरीली गैस में नहीं बदलती।
  7. इस गैस के प्रयोग से वायुमंडल की ओजोन परत को नुकसान होने की संभावना नहीं है।
  8. एलपीजी एक अच्छा और स्वच्छ ईंधन है जिसका उपयोग आसानी से खाना पकाने के लिए हर घर की रसोई में किया जाता है।
  9. एलपीजी गैस का मेंटेनेंस आसानी से किया जा सकता है। लिक्विड फॉर्म में होने के बावजूद आप इसे आसानी से कहीं भी ले जा सकते हैं।
  10. वायु प्रदूषण को रोकता है। क्योंकि इसकी लौ निर्धूम होती है।

एलपीजी गैस से होने वाले ख़तरे

एलपीजी के उपयोग तो आपने देख लिए लेकिन अगर आप सावधानी नहीं बरतते है तो इससे आपको कुछ खतरा भी हो सकता है जो की निम्न्लिखित है।

  1. यदि एलपीजी का संपर्क अधिक मात्रा में किसी इंसान के फेफड़ों से होता है तो उसकी मौत भी हो सकती है।
  2. क्योकि एलपीजी एक अत्यधिक ज्वलनशील गैस है इसलिए इसके रिसाव से विस्फोट का खतरा हो सकता है।

इसलिए हमेशा एलपीजी का इस्तेमाल करने के दौरान आपको सावधानी रखनी चाहिए और अगर आपको लगता है की गैस नली से थोड़ा भी रिसाव हो रहा है तो आपको तुरंत नली को बदल देना चाहिए।

नया एलपीजी गैस कनेक्शन कैसे ले

अगर आपके पास एलपीजी गैस कनेक्शन नहीं है और आप भी गैस कनेक्शन लेना चाहते है तो इसका सबसे अच्छा तरीका है आप अपने पास के किसी भी गैस एजेंसी पर जाकर एक फॉर्म भर सकते है और अपना गैस कनेक्शन प्राप्त कर सकते है।

गैस कनेक्शन का फॉर्म भरने के बाद आपको फॉर्म के साथ-साथ कुछ दस्तावेज अटैच करने होते है जैसे आपका Identity Proof और Address Proof जो की निम्न्लिखित है।

For Identity Proof –

पहचान प्रमाण के लिए आप निम्न्लिखित में से कोई भी दस्तावेज अटैच कर सकते है।

  1. आधार कार्ड
  2. पैन कार्ड
  3. वोटर आईडी कार्ड
  4. ड्राइविंग लाइसेंस
  5. पासपोर्ट

For Address Proof –

अपने एड्रेस प्रूफ के लिए आप निम्न्लिखित में से कोई भी दस्तावेज अटैच कर सकते है।

  1. राशन कार्ड
  2. बिजली बिल
  3. ड्राइविंग लाइसेंस
  4. पासपोर्ट
  5. बैंक स्टेटमेंट
  6. घर का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज

इस प्रकार आप उपरोक्त दस्तावेजों को गैस कनेक्शन के फॉर्म के साथ अटैच करके फॉर्म को पुनः गैस एजेंसी पर जमा करवा सकते है और उसके बाद 7 से 8 दिन के भीतर आपका गैस कनेक्शन हो जायेगा। इसके अलावा आप गैस एजेंसी से भी गैस कनेक्शन की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

इस प्रकार अब आपको एलपीजी फुल फॉर्म और इससे सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में अच्छे से समझ गए होंगे तो चलिए अब इस पोस्ट से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण सवाल जवाब देख लेते है।

FAQs Related to LPG

एलपीजी गैस को हिंदी में क्या कहते हैं?

एलपीजी गैस को हिंदी में तरलीकृत पेट्रोलियम गैस या द्रवित पेट्रोलियम गैस कहते है।

एलपीजी सिलेंडर में कौन सी गैस होती है?

घरेलु एलपीजी सिलिंडर में प्रोपेन और ब्यूटेन गैस भरी होती है जो की तरलीकृत गैस है और इसे ही एलपीजी गैस कहा जाता है।

LPG का क्या अर्थ है?

LPG का मतलब होता है “Liquified Petroleum Gas” जिसे द्रवित पेट्रोलियम गैस भी कहते है।

एलपीजी का रासायनिक नाम क्या है?

LPG का रासायनिक नाम Liquified Petroleum Gas होता है जो की मुख्य रूप से ईंधन के रूप में इस्तेमाल की जाती है।

एलपीजी फुल फॉर्म क्या है ?

एलपीजी फुल फॉर्म Liquefied Petroleum Gas(LPG) है जिसे हिंदी में तरलीकृत पेट्रोलियम गैस कहा जाता है।

एलपीजी गैस का प्रयोग कहाँ होता है ?

एलपीजी गैस का प्रयोग रसोई में खाना बनाने तथा कुछ वाहनों में ईंधन के रूप में, उद्योगों में होता है।

एलपीजी गैस कैसे बनायीं जाती है ?

एलपीजी गैस तेल शोधन की प्रक्रिया के दौरान डीज़ल पेट्रोल आदि के साथ आश्वन टावर का प्रयोग करके कच्चे तेल से बनाया जाता है।

क्या एलपीजी गैस में गंध आती है ?

वैसे तो एलपीजी गैस अपने प्राकृतिक रूप में गंधहीन है। परन्तु आपने देखा होगा जब यह गैस लीक होती है तो इसमें गंध आती है यह गंध वास्तव में इथाइल मकैप्टन नामक यौगिक की है जिसे इस गैस में मिलाया जाता है।

एलपीजी गैस में कौन कौन सी गैसों का मिश्रण होता है ?

एलपीजी गैस कई गैसों के मिश्रण से मिलकर बनी होती है। इसमें प्रोपेलीन, ब्यूटीलीन, एथेन ईथीलीन, आइसोब्यूटेन आदि गैसों का मिश्रण होता है।

रसोई गैस एलपीजी किसके द्वारा उपलब्ध करायी जाती है ?

एलपीजी गैस को कई सरकारी और प्राइवेट कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराया जाता है।

एलपीजी गैस उपलब्ध करने वाली मुख्य निजी कंपनियां कौन कौन सी है ?

एलपीजी गैस को मुख्य तीन निजी कम्पनियां के द्वारा उपलब्ध कराया जाता है – इण्डेन गैस कंपनी, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम गैस कम्पनी, भारत गैस कम्पनी

गैस कनेक्शन के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है ?

यदि आप एलपीजी गैस कनेक्शन चाहते है तो आपको आधार कार्ड,पेन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड आदि की आवश्यकता पड़ेगी ।

क्या गैस के नए कनेक्शन के लिए हम ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं?

जी हाँ, आप ऑनलाइन गैस का कनेक्शन प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको एलपीजी की आधिकारिक साइट http://cx.indianoil.in पर जाना होगा। या आप इनके एलपीजी टोल फ्री नंबर-1800 -2333-555 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Conclusion –

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट LPG Full Form in Hindi जरूर पसंद आयी होगी और इस पोस्ट में साझा जानकारी आपके लिए उपयोगी भी रही होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी है तो इसे अपने सोशल मीडिया दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे साथ ही अगर आपको हमारी इस पोस्ट से सम्बंधित कोई भी Doubts है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये।

source Link

also read:

Leave a Comment