PM Kisan Yojana Update 2022: लाभ लेने वाले किसानों के लिए एक अपडेट है.

PM Kisan Yojana के नाम से लोकप्रिय योजना के तहत किसानों को खेती में सहयोग के लिए सरकार की ओर से हर साल 6000 रुपये की आर्थिक मदद मुहैया कराई जाती है. 

अनुमान लगाया जा रहा है कि 11वीं किस्त अप्रैल के पहले हफ्ते में किसानों के खाते में आ जाएगी. इसके बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए योजना का लाभ लेने वाले किसानों को पहले अपना स्टेटस चेक करना होगा. सामान्यत: हर चार महीने पर पीएम किसान योजना का पैसा किसानों को भेजा जाता है. 

दरअसल 2021 में रिकॉर्डतोड़ महंगाई से देश के हर वर्ग पर काफी असर पड़ा है. खेती में इस्तेमाल होने वाले बीज, खाद और डीजल की कीमत भी लगातार बढ़ रही है.ऐसे में किसान हर साल तीन किस्तों में मिलने वाली 6000 रुपये की राशि को बढ़ने की मांग कर रहे हैं. 

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) आज मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का चौथा बजट पेश करेंगी. बजट में सरकार किसानों की लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा कर सकती है. उम्मीद है कि केंद्र सरकार आम बजट में पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) यानी PM Kisan Yojana में मिलने वाली सालाना 6 हजार रुपये की राशि को बढ़ाकर 8000 कर सकती है. 

खाते में राशि चेक इस तरह करें (How to check status)

इसके लिए सबसे पहले पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in  पर जाएं. वेबसाइट के दाईं तरफ दिख रहे ‘किसान कॉर्नर’ ऑप्शन पर क्लिक करें. इसके बाद Beneficiary Status के ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपके सामने पेज खुल जाएगा. पेज खुलने के बाद उसमें अपना आधार, बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर जैसे कुछ डिटेल दर्ज करें. ऐसा करने पर एक लिस्ट सामने आ जाती है, जिसमें लाभार्थी अपना नाम चेक कर सकते हैं. 

किसानों के खाते में पहुंचे 20,000 रुपये

अब तक तक करोड़ों किसानों को पीएम किसान योजना से जोड़ा जा चुका है. योजना के तहत सभी रजिस्टर्ड किसान के खाते में सालाना 6,000 रुपये की राशि ट्रांसफर की जाती है. 

अब तक रजिस्टर्ड किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि की 10 किस्तें जारी की जा चुकी हैं. इस लिहाज से हर किसान के खाते में 20,000 रुपये ट्रांसफर किए गए हैं. 

यह राशि किसानों के खाते में 2,000 रुपये की तीन किस्तों में ट्रांसफार की जाती है. हर चार महीने में किसानों के खाते में एक किस्त ट्रांसफर की जाती है. 

इस दिन खाते में आएगी 11 वीं किस्त

पीएम किसान योजना के तहत सभी रजिस्टर्ड किसानों के खाते में योजना की 10 किस्तें भेजी जा चुकी हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फरवरी माह के मध्य में किसानों के खाते में 11वीं किस्त ट्रांसफर की जाती है. 

फर्जीवाड़े को रोकने के लिए किया नियमों में बदलाव

केंद्र सरकार इस योजना के तहत होने वाले फर्जीवाड़े को रोकने के लिए यह कदम उठी रही है. ऐसा देखा जा रहा है कि कई अपात्र लोग पीएम किसान योजना का फायदा ले रहे हैं. इसी वजह से सरकार नियमों में बदलाव कर रही है. अब योजना का फायदा लेने के लिए राशन कार्ड जरूरी होगा. 

1 जनवरी को ट्रांसफर किया पैसा

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी को पीएम किसान स्कीम की 10वीं किस्त का पैसा ट्रांसफर किया है और अप्रैल महीने में सरकार 11वीं किस्त का पैसा भी ट्रांसफर कर सकती है तो ऐसे में अगली किस्त का फायदा लेने के लिए आप राशन कार्ड को अपडेट करा लें, जिससे कि आपको किसी भी तरह की परेशानी न हो. 

किन लोगों को नहीं मिलता है फायदा

पीएम किसान सम्मान निधि का फायदा उन लोगों को नहीं मिलता है जो इनकम टैक्स भरते हैं. इसके अलावा डॉक्टर, चार्टर्ड अकाउंटेंट, वकील, इंजीनियर, आर्किटेक्ट जैसे प्रोफेशनल्स को भी इस स्कीम का फायदा नहीं मिलता है.

सालाना मिलती है 6000 रुपये की मदद

आपको बता दें पीएम किसान योजना के तहत सरकार 6000 रुपये सालाना की आर्थिक मदद किसानों को देती है. ये 6000 रुपये 3 समान किस्तों में दिए जाते हैं. सरकार 4-4 महीनों के अंतर पर 2000-2000 रुपये की 3 किस्त ट्रांसफर करती है. 

कौन ले सकता है फायदा

इस स्कीम का लाभ लेने के लिए आपकी आयु 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए. इसके अलावा आपके पास 2 हेक्टेयर खेती योग्य जमीन होना भी जरूरी है, जिन किसानों के पास खेती योग्य जमीन नहीं है वह इस स्कीम का फायदा नहीं ले सकते हैं.

पीएम किसान मुद्दा PM Kisan Issue

द हिंदू में प्रकाशित एक रिपोर्ट के जवाब में, कृषि विभाग ने कहा कि बैंक खाता सुधार के लिए, लाभार्थियों की पहचान के लिए फील्ड स्टाफ को रिकॉर्ड भेजे गए थे। इसके अलावा, लाभार्थियों के बीच भी जागरूकता पैदा की जा रही है कि वे योजना से संबंधित अधिकारियों से संपर्क करके वेबसाइट में अपने बैंक विवरण को सही करवाएं।

Who’s eligible for PM Kisan Samman Nidhi Yojana?

दुर्भाग्य से, पति और पत्नी दोनों पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। अगर किसी परिवार में पति-पत्नी हैं जो इस योजना से लाभान्वित होते हैं तो सरकार उन्हें ‘नकली’ करार देगी। इसके अलावा, ऐसे अन्य प्रावधान भी हैं जिनमें किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए अपात्र हैं।

अगर किसान परिवार में कोई टैक्स देता है तो इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसी तरह, यदि कोई किसान अपनी कृषि भूमि का उपयोग खेती के लिए नहीं बल्कि अन्य कार्यों के लिए कर रहा है या दूसरों के खेतों में खेती का काम करता है, और वे योजना का लाभ लेने के पात्र नहीं होंगे।

वहीं अगर कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम पर नहीं बल्कि उसके पिता या दादा के नाम पर है, तो उन्हें फिर से इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

एक अन्य मामले में यदि कोई कृषि भूमि का स्वामी है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या सेवानिवृत्त, वर्तमान या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री हैं, तो ऐसे लोग भी किसान योजना के लाभ के लिए अपात्र हैं।

लाभार्थियों की पहचान कैसे की जाएगी, भुगतान के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा

राज्य सरकारें और केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन उन किसान

Leave a Comment